Achievements

0
0

Shri Ram Abhilash Pal(Guruji) , Chairman and manager of NSR Junior high school , who is working in the education field since many(approx 30) years. He is recognized at national/international level because his pupils are serving the world in various sectors like Engineering,Medical,Education,Armed Forces etc.

Guruji receiving Best teacher award from Lion’s Club, Prayagraj

Guruji was felicited by SP District President Shri Lal Bahadur Yadav for his exceptional contributions in the field of education !!

 

Below are very nice lines(In Hindi) shared by an IITian and pupil of Guruji Mr. Achchhe Lal Yadav:

” हमारे गुरुजी”
एक ऐसा व्यक्ति जिसका कद है छोटा,
पर समझो तो उसका ,पद है बहुत ऊंचा,
साधारण सा दिखने वाला ,
सामान्य सी दिनचर्या,
सुबह से शाम तक, अध्ययन और अध्यापन,
बिल्कुल विनम्र,समर्पित ,और प्रतिबद्ध,
आंखों में आत्मविश्वास ,चेहरे पे आत्मसंतोष,
विचार होते हैं ,जिनके क्रमवबद्ध ।
अपनी प्रेरणा से ,मेहनत और लगन से,
देश को दे रहे हैं ,शिक्षित लोग,
वैज्ञानिक, डॉक्टर, इंजीनियर,और अध्यापक,
जिनकी मेहनत से ,सब पाते हैं सुख भोग।
कहने को उनके पास ,बालक है एक,
वास्तव में उनकी संतानें हैं अनेक,
जिनको वो देते हैं ,एक निश्चित पथ,
जिससे बढ़ता है देश की तरक्की का रथ।
सबके दिल में छाए,सब करते हैं उनका सम्मान,
क्यूंकि वो खुद सबको इज्जत देते हैं,
ग़रीब हो या हो धनवान,
किसी को चोट नहीं पहुंचाते ,
ना किसी का करते हैं अपमान,
यही तो वो गुण हैं जिनसे,
इंसान हो जाता है महान।
उनकी बातों में गजब का तेज़ है,
जो भरता है उनके शिष्यों में,
सृजनकारी विचारों का तूफ़ान,
जो भुला देता है सबकुछ ,
और वो जुट जाते हैं,
बढ़ते हैं ,बिना थके,बिना रुके,
जब तक कि अपनी मंज़िल नहीं पाते हैं,
उनके उत्साहवर्धन से,और मार्गदर्शन से,
शिष्य गण हरदम,आगे ही बढ़ते हैं,
ना कभी हार माने,ना कभी निराशा जानें,
मंज़िल को पाने को ,हर मुश्किल से लड़ते हैं।
जिनकी एक आवाज़ पर ,
बोलने के अंदाज पर,
बहुत से छात्र गण दौड़े चले आते हैं,
सबको लुभाते हैं ,हंस के पढ़ाते हैं,
इसी तरीके से सबको सिखाते हैं,
ऐसे ही लोग सच्चे मायने में,
दिखाते हैं देशभक्ति ,
होते हैं देश प्रेमी, और समाज के मार्गदर्शक,
जो ना जानें आलस्य,ना अकर्मन्यता,
ना कोई वैभव,ना कोई विलास,
वो हैं हमारे गुरु,
हजारों के वंदनीय ,
परम श्रद्धेय श्री राम अभिलाष।